What is Janta Curfew said By PM Narendra Modi Sir

What is Janta Curfew said By PM Narendra Modi Sir

Janta Curfew, जनता कर्फ्यू, E-commerce Development in Gorakhpur, E-Commerce Website Designing in Gorakhpur, E-Commerce Website Portal in Gorakhpur, E-Commerce Website Development in Gorakhpur, E-Commerce Web Development Company in Gorakhpur, Ecommerce Software in Gorakhpur, E-Commerce Website Designing in Uttar Pradesh, E-Commerce Website Portal in Uttar Pradesh, E-Commerce Website Development in Uttar Pradesh, E-Commerce Web Development Company in Uttar Pradesh, Ecommerce Software in Uttar Pradesh, E-Commerce Website Designing in India, E-Commerce Website Portal in India, E-Commerce Website Development in India, E-Commerce Web Development Company in India, Ecommerce Software in India

कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात देश को संबोधित किया। पीएम ने कहा कि 'ये संकट ऐसा है, जिसने विश्व भर में पूरी मानवजाति को संकट में डाल दिया है।' उन्‍होंने कहा कि 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया है, आवश्यक सावधानियां बरती हैं। लेकिन, बीते कुछ दिनों से ऐसा भी लग रहा है जैसे हम संकट से बचे हुए हैं, सब कुछ ठीक है। वैश्विक महामारी कोरोना से निश्चिंत हो जाने की ये सोच सही नहीं है। पीएम ने लोगों से अपील की कि वे 'जनता कर्फ्यू' लगाएं। ये क्‍या है और आम जनता इसे कैसे लागू करेगी, पीएम ने इसके बारे में भी बताया।

क्‍या है जनता कर्फ्यू?

पीएम मोदी के मुताबिक, इस रविवार यानि 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक कोई व्‍यक्ति बाहर न निकले। अपने आप से कर्फ्यू जैसे हालात करने हैं। पीएम ने अपील की कि संभव हो तो हर व्यक्ति प्रतिदिन कम से कम 10 लोगों को फोन करके कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के साथ ही जनता-कर्फ्यू के बारे में भी बताए। पीएम ने अपील की कि रविवार को ठीक 5 बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। पीएम ने अस्‍पतालों पर दबाव का जिक्र करते हुए लोगों से कहा कि वे रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं, उतना बचें।

क्‍या है इसका मकसद?

प्रधानमंत्री के अनुसार, ये 'जनता कर्फ्यू' कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत कितना तैयार है, ये देखने और परखने का भी समय है। उन्‍होंने कहा कि ये जनता कर्फ्यू एक प्रकार से भारत के लिए एक कसौटी की तरह होगा। पीएम के मुताबिक, '22 मार्च को हमारा ये प्रयास हमारे आत्म-संयम, देशहित में कर्तव्य पालन के संकल्प का एक प्रतीक होगा। 22 मार्च को जनता-कर्फ्यू की सफलता, इसके अनुभव, हमें आने वाली चुनौतियों के लिए भी तैयार करेंगे।'

पीएम मोदी ने ब्‍लैक आउट के बारे में समझाया

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा, "आज की पीढ़ी इससे बहुत परिचित नहीं होगी लेकिन पुराने समय में जब युद्ध की स्थिति होती थी तो गांव-गांव में ब्‍लैक आउट किया जाता था। घरों के शीशों पर कागज लगाया जाता था, लाईट बंद कर दी जाती थी, लोग चौकी बनाकर पहरा देते थे।"

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न खतरे को विश्वयुद्ध से भी खतरनाक बताया और प्रत्येक देशवासी के सजग रहने की जरूरत पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व संकट के गंभीर दौर से गुजर रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि आपने हमें कभी निराश नहीं किया. आज फिर मैं सभी देशवासियों से कुछ मांगने आया हूं.

कोविड-19 के लिए बनी टास्‍क फोर्स

पीएम मोदी ने ऐलान किया वित्‍त मंत्री के नेतृत्‍व में कोविड-19 इकॉनमिक टास्‍क फोर्स बनाई जा रही है। ये टास्क फोर्स सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक मुश्किलों को कम करने के लिए जितने भी कदम उठाए जाएं, उन पर प्रभावी रूप से अमल हो।

 

Share this Post:

2 Comments

  1. Vishal hariyani March 19, 2020 at 09:22 PM

    I do same things

  2. Rajgovind Kushwaha March 20, 2020 at 08:35 AM

    I am suport carfu

Leave a Comment


Do you want to discuss your Project with us?
Request a call-back.

Sit back and relax, we’ll call you as soon as possible.

What are Client's Gesture about Us?

We're the leader of Designing in Uttar Pradesh, New Delhi and Bihar  View Portfolio

CIN U72900UP2016PTC084149
GST 09AAGCC5072M2Z8